सलीब पर यीशु मुआ है 

सलीब पर यीशु मुआ है 

सलीब पर यीशु मुआ है

यीशु की सिताईश हो

वह मेरा शाफी हुआ है

यीशु की सिताईश हो |

खुदवन्द यीशु है मिहरबान

वह नाम है मुझे खुश इल्हान |

और ज़िंदा करता मेरी जान

यीशु की सीतायिश हो |

२. मसीह ने लिया मेरा बार

यीशु की सीतायिश हो

बचाया मौत से मुझ बदकार

यीशु की सीतायिश हो |

३. मिट गए मेरे सब गुनाह

यीशु की सीतायिश हो

मई चलता हु आसमानी राह

यीशु की सीतायिश हो  |

४. वह नाम सुनाया जाता है

यीशु की सीतायिश हो

बे-चैन को सुख दिलाता है

यीशु की सीतायिश हो |

५. जब होगी ज़िन्दगी तमाम

यीशु की सीतायिश हो

तब गाऊ उसकी हम्द मुदाम

यीशु की सीतायिश हो |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.